Searching...
Monday, November 25, 2019

अब सभी विभागों में होगा 'मंथन', अफसरों ने जो सीखा, अब कर्मचारियों को सिखाएंगे, विभागों में शुरू हुईं बैठकें


सीएम योगी ने आईआईएम में मंत्रियों-अफसरों के लिए कार्यशाला का आयोजन किया था।
सूत्र बताते हैं कि इस तरह की बैठकों में होने वाली चर्चा में अगले बजट की जरूरतों का भी रास्ता निकल सकता है। नियोजन विभाग ने बैठकें करने के साथ ही उनके निष्कर्षों का ब्योरा भी मांगा है ताकि उनके आधार पर बदलाव किए जा सकें। इन सुझावों के आधार पर विभागों के काम में बदलाव के तौर तरीकों की नई गाइडलाइन भी तैयार होने की संभावनाएं देखी जा रही हैं। माना जा रहा है कि कई जगहों पर ऐसे फंड कम भी किए जा सकते हैं जिन्हें सरकार अनुपयोगी मान रही हो।
नियोजन विभाग की तरफ से आए आदेश के बाद विभागों में इसपर अमल भी शुरू हो गया है। शनिवार को बाल विकास पुष्टाहार एवं सेवा निदेशालय में कर्मचारियों के साथ बैठक हुई और इसमें कार्यशैली को लेकर बात हुई। इसमें यह देखा गया कि कैसे विभाग के टारगेट को इतने ही संसाधनों में पूरा किया जा सकता है। किन तकनीकों का इस्तेमाल करके हम काम की गुणवत्ता सुधारने के साथ ही उसमें पारदर्शिता ला सकते हैं। सूत्र बताते हैं कि जल्द ही अन्य विभागों में भी इसी तरह की बैठकें होंगीं।
विभाग ने सभी को आदेश जारी किए हैं कि वे अपने यहां के कर्मचारियों के साथ बैठकर कार्यशैली सुधारने और टारगेट को पूरा करने के लिए चर्चा करें।
के प्रफेसरों ने उन्हें यह भी सिखाया था कि कैसे वे अपने काम की शैली सुधार सकते हैं। आईआईएम में सीखने के बाद अब बारी है, इसे नीचे तक ले जाने की। हाल ही में नियोजन
Rohit.Mishra1@timesgroup.com• लखनऊ : आईआईएम लखनऊ में सरकार, विधायक और ब्यूरोक्रेट्स ने जो सीखा अब उसे विभागों के बीच ले जाने की तैयारी है। सरकार के नियोजन विभाग की तरफ से जारी आदेश में कहा गया है कि सभी ब्यूरोक्रेट्स अपने विभागों में अब आईआईएम में हुए मंथन की तर्ज पर बैठकें करें। अपने अधीनस्थों को सिखाएं, जो वहां सीखा और उनके साथ कार्यशैली और कार्यकुशलता में सुधार लाने के रास्ते तलाशें।

सरकार ने कुछ महीने पहले लीडरशिप को डिवेलप करने के लिए आईआईएम में मंथन कोर्स किया था। इसमें लीडरशिप के गुर सिखाए जाने के अलावा आईआईएम
कार्यशैली में सुधार, कार्यकुशलता में इजाफा जैसी चीजों पर होगी बात, तलाशे जाएंगे रास्ते

संबन्धित खबरों के लिए क्लिक करें

GO-शासनादेश NEWS अनिवार्य सेवानिवृत्ति अनुकम्पा नियुक्ति अल्‍पसंख्‍यक कल्‍याण अवकाश आंगनबाड़ी आधार कार्ड आयकर आरक्षण आवास उच्च न्यायालय उच्‍च शिक्षा उच्चतम न्यायालय उत्तर प्रदेश उत्तराखण्ड उपभोक्‍ता संरक्षण एरियर एसीपी ऑनलाइन कर कर्मचारी भविष्य निधि EPF कामधेनु कारागार प्रशासन एवं सुधार कार्मिक कार्यवाही कृषि कैरियर कोर्टशाला कोषागार खाद्य एवं औषधि प्रशासन खाद्य एवम् रसद खेल गृह गोपनीय प्रविष्टि ग्रामीण अभियन्‍त्रण ग्राम्य विकास ग्रेच्युटी चतुर्थ श्रेणी चयन चिकित्सा चिकित्‍सा एवं स्वास्थ्य चिकित्सा प्रतिपूर्ति छात्रवृत्ति जनवरी जनसंख्‍या जनसुनवाई जनसूचना जनहित गारण्टी अधिनियम धर्मार्थ कार्य नकदीकरण नगर विकास निबन्‍धन नियमावली नियुक्ति नियोजन निर्वाचन निविदा नीति न्याय न्यायालय पंचायत चुनाव 2015 पंचायती राज पदोन्नति परती भूमि विकास परिवहन पर्यावरण पशुधन पिछड़ा वर्ग कल्‍याण पीएफ पुरस्कार पुलिस पेंशन प्रतिकूल प्रविष्टि प्रशासनिक सुधार प्रसूति प्राथमिक भर्ती 2012 प्रेरक प्रोन्‍नति प्रोबेशन बजट बर्खास्तगी बाट माप बेसिक शिक्षा बैकलाग बोनस भविष्य निधि भारत सरकार भाषा मकान किराया भत्‍ता मत्‍स्‍य मंहगाई भत्ता महिला एवं बाल विकास माध्यमिक शिक्षा मानदेय मानवाधिकार मान्यता मुख्‍यमंत्री कार्यालय युवा कल्याण राजस्व राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद राज्य सम्पत्ति राष्ट्रीय एकीकरण रोक रोजगार लघु सिंचाई लोक निर्माण लोक सेवा आयोग वरिष्ठता विकलांग कल्याण वित्त विद्युत विविध विशेष भत्ता वेतन व्‍यवसायिक शिक्षा शिक्षा शिक्षा मित्र श्रम सचिवालय प्रशासन सत्यापन सत्र लाभ सत्रलाभ समन्वय समाज कल्याण समाजवादी पेंशन समारोह सर्किल दर संवर्ग संविदा संस्‍थागत वित्‍त सहकारिता सातवां वेतन आयोग सामान्य प्रशासन सार्वजनिक उद्यम सार्वजनिक वितरण प्रणाली सिंचाई सिंचाई एवं जल संसाधन सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम सूचना सेवा निवृत्ति परिलाभ सेवा संघ सेवानिवृत्ति सेवायोजन सैनिक कल्‍याण स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन स्थानांतरण होमगाडर्स