Searching...
Wednesday, December 30, 2020

क्या Income Tax Return की तारीख बढ़ने वाली है? जानिए अंदर की पुख्ता खबर!

क्या Income Tax Return की तारीख बढ़ने वाली है? जानिए अंदर की खबर!




Income Tax Return: देश के कई हिस्सों से अलग अलग संस्थांओं के चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ने वित्त मंत्री को चिट्ठी लिखकर ITR भरने की अंतिम तारीख बढ़ाने की मांग की है. साथ ही सरकार भी पिछले साल के मुकाबले ITR फाइलिंग में पीछे चल रही है.


नई दिल्ली: Income Tax Return भरने की डेडलाइन खत्म होने में बस कुछ घंटे ही बचे हैं. अगर आपने अबतक अपना ITR इसलिए नहीं भरा है क्योंकि आपको लगता है कि आखिरी तारीख को अभी और आगे बढ़ाया जा सकता है, तो बेहतर होगा ऐसा नहीं करें. आपके पास 31 दिसंबर रात 12 बजे तक का ही वक्त है. उसके बाद आपको ITR फाइलिंग पर 10,000 रुपये की पेनल्टी चुकानी पड़ेगी. 


बस कल तक इंतजार!

दरअसल, इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) की अंतिम तारीख को आगे बढ़ाने के लिए चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ने सरकार को कई चिट्ठियां लिखी हैं, जिसमें उन्होंने ITR फाइलिंग की तारीख को आगे बढ़ाने की मांग की है. जानकार भी मानते हैं कि सरकार अभी और एक्सटेंशन दे सकती है. क्योंकि, कई संस्थानों ने सरकार से 31 मार्च 2021 तक रिटर्न डेडलाइन बढ़ाने की मांग की है. हालांकि, वित्त मंत्रालय की तरफ से अभी इसे लेकर कुछ साफ नहीं किया गया है. एक्सपर्ट मानते हैं कि सरकार ऐन वक्त पर यानि 31 दिसंबर की शाम तक तारीख आगे बढ़ाने का ऐलान कर सकती है. 

सूत्रों की मानें तो 31 दिसंबर के बाद रिटर्न फाइलिंग की आखिरी तारीख को बढ़ाकर 31 जनवरी 2021 किया जा सकता है. सरकार वित्त वर्ष 2019-20 के रिटर्न फाइल करने के लिए एक महीने का और वक्त दे सकती है. सूत्र यह भी बताते हैं कि सरकार पिछले टारगेट को पूरा करने के लिए भी डेडलाइन को आगे बढ़ा सकती है. 


अभी ITR फाइलिंग में कमी 

दरअसल, पिछले वित्त वर्ष में 31 अगस्त 2019 तक तक कुल 5.65 करोड़ रिटर्न दाखिल किए गए थे, इस साल 29 दिसंबर तक 4.54 करोड़ रिटर्न हासिल हुए हैं, जबकि पिछले 29 दिसंबर 2019 तक 4.51 करोड़ रिटर्न दाखिल हुए थे. इसमें भी 29 दिसंबर रात 8 बजे तक 13.6 लाख रिटर्न दाखिल हुए थे. इसमें भी आखिरी के 1.5 लाख रिटर्न सिर्फ शाम 7 बजे से रात 8 बजे यानि एक घंटे के दौरान दाखिल किए गए. यानि अभी काफी लोगों के ITR दाखिल होना बाकी है. 


अब तक कितने रिटर्न हुए फाइल

इनकम टैक्‍स विभाग (Income Tax Department) ने बताया है चालू वित्त वर्ष में 24 दिसंबर तक 3.97 करोड़ टैक्सपेयर्स ने असेसमेंट ईयर 2020-21 (वित्त वर्ष 2019- 20) के लिए इनकम टैक्स रिटर्न (Income Tax Return) दाखिल किए हैं. 2.27 करोड़ टैक्सपेयर्स ने आईटीआर-1 (ITR-1) भरे हैं. वहीं, 85.20 लाख ने आईटीआर-4 (ITR-4), 46.78 लाख ने आईटीआर-3 (ITR-3) और 28.74 ने आईटीआर-2 (ITR-2) भरे हैं. इंडीविजुअल टैक्सपेयर्स के लिए रिटर्न 31 दिसंबर 2020 तक भरना है. वहीं जिन लोगों के अकाउंट के लिए ऑडिट जरूरी होता है, उनके लिए रिटर्न फाइल करने की आखिरी तारीख 31 जनवरी 2021 रखी गई है.


ऐसे भरें ऑनलाइन ITR

1. सबसे पहले आप www.incometaxindiaefiling.gov.in पर जाएं.
2. यूजर आईडी (PAN), पासवर्ड, जन्मतिथि और कैप्चा कोड एंटर कर लॉग इन करें.
3. ‘e-File’ टैब पर जाएं और Income Tax Return लिंक पर क्लिक करें.
4. सबसे पहले ये चुनें की कौन सा ITR फॉर्म भरना है. असेसमेंट ईयर कौन सा है
5. अगर ओरिजिनल रिटर्न भर रहे हैं तो 'Original' टैब पर क्लिक करें
6. अगर रिवाइज्ड रिटर्न भर रहे हैं तो 'Revised Return' पर क्लिक करें 
7. इसके बाद Prepare and Submit Online को चुनें फिर Continue को क्लिक करें 
8. इसके बाद नए पेज में दी गई सभी जानकारियों को भरें और सेव करते रहें, क्योंकि सेशन टाइम आउट हुआ तो भरी गई सभी जानकारियां गायब हो जाएंगी
9. इसमें आपको निवेश की सभी जानकारियां, हेल्थ और जीवन बीमा की जानकारियां भरनी हैं. 
10. सभी जानकारियां भरने के बाद अंत में Verification का पेज आएगा, जिसे आप चाहें तो उसी समय वेरिफाई कर दें, नहीं तो 120 दिन के अंदर वेरिफाई कर सकते हैं.
11. इसके बाद Previw and submit पर क्लिक करें और ITR को सबमिट करें.


वेरिफिकेशन करना न भूलें

सबसे जरूरी बात ये कि इलेक्ट्रॉनिक मोड से बिना डिजिटल सिग्नेचर यानी बिना ई-वेरिफिकेशन आयकर रिटर्न (ITR) फाइल करने वाले करदाता को इसे ITR अपलोडिंग के 120 दिनों के अंदर वेरिफाई करना होता है. इसके लिए 4 तरीके हैं-

1. आधार ओटीपी के जरिए
2. नेट बैंकिंग के जरिए ई-फाइलिंग अकाउंट में लॉग इन कर
3. इलेक्ट्रॉनिक वेरिफिकेशन कोड (EVC) के जरिए
4. ITR-V के दोनों तरफ दस्तखत की हुई कॉपी को बैंगलुरु भेजें


याद रहे 120 दिनों के अंदर  ITR-V फाइल न करने पर रिटर्न को ‘नहीं भरा हुआ’ यानि अमान्य घोषित किया जा सकता है.

संबन्धित खबरों के लिए क्लिक करें

GO-शासनादेश NEWS अनिवार्य सेवानिवृत्ति अनुकम्पा नियुक्ति अल्‍पसंख्‍यक कल्‍याण अवकाश आंगनबाड़ी आधार कार्ड आयकर आरक्षण आवास उच्च न्यायालय उच्‍च शिक्षा उच्चतम न्यायालय उत्तर प्रदेश उत्तराखण्ड उपभोक्‍ता संरक्षण एरियर एसीपी ऑनलाइन कर कर्मचारी भविष्य निधि EPF कामधेनु कारागार प्रशासन एवं सुधार कार्मिक कार्यवाही कृषि कैरियर कोर्टशाला कोषागार खाद्य एवं औषधि प्रशासन खाद्य एवम् रसद खेल गृह गोपनीय प्रविष्टि ग्रामीण अभियन्‍त्रण ग्राम्य विकास ग्रेच्युटी चतुर्थ श्रेणी चयन चिकित्सा चिकित्‍सा एवं स्वास्थ्य चिकित्सा प्रतिपूर्ति छात्रवृत्ति जनवरी जनसुनवाई जनसूचना जनहित गारण्टी अधिनियम धर्मार्थ कार्य नकदीकरण नगर विकास निबन्‍धन नियमावली नियुक्ति नियोजन निर्वाचन निविदा नीति न्याय न्यायालय पंचायत चुनाव 2015 पंचायती राज पदोन्नति परती भूमि विकास परिवहन पर्यावरण पशुधन पिछड़ा वर्ग कल्‍याण पीएफ पुरस्कार पुलिस पेंशन प्रतिकूल प्रविष्टि प्रशासनिक सुधार प्रसूति प्राथमिक भर्ती 2012 प्रेरक प्रोबेशन बजट बर्खास्तगी बाट माप बेसिक शिक्षा बैकलाग बोनस भविष्य निधि भारत सरकार भाषा मकान किराया भत्‍ता मत्‍स्‍य मंहगाई भत्ता महिला एवं बाल विकास माध्यमिक शिक्षा मानदेय मानवाधिकार मान्यता मुख्‍यमंत्री कार्यालय युवा कल्याण राजस्व राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद राज्य सम्पत्ति राष्ट्रीय एकीकरण रोक रोजगार लघु सिंचाई लोक निर्माण लोक सेवा आयोग वरिष्ठता विकलांग कल्याण वित्त विद्युत विविध विशेष भत्ता वेतन व्‍यवसायिक शिक्षा शिक्षा शिक्षा मित्र श्रम सचिवालय प्रशासन सत्यापन सत्र लाभ सत्रलाभ समन्वय समाज कल्याण समाजवादी पेंशन समारोह सर्किल दर संवर्ग संविदा संस्‍थागत वित्‍त सहकारिता सातवां वेतन आयोग सामान्य प्रशासन सार्वजनिक उद्यम सार्वजनिक वितरण प्रणाली सिंचाई सिंचाई एवं जल संसाधन सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम सूचना सेवा निवृत्ति परिलाभ सेवा संघ सेवानिवृत्ति सेवायोजन सैनिक कल्‍याण स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन स्थानांतरण होमगाडर्स