Searching...
Sunday, June 20, 2021

सरकारी दफ्तरों में अब आएगा पूरा स्टाफ, यूपी सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन

उत्तर प्रदेश में खुलेंगे माल, रेस्टोरेंट और पार्क,  विस्तृत दिशा-निर्देश किए जारी, शिक्षण संस्थान रहेंगे बन्द

सरकारी दफ्तरों में अब आएगा पूरा स्टाफ, यूपी सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन


प्रदेश में 21 जून से कोरोना कर्फ्यू में सुबह सात बजे से रात नौ बजे तक की छूट मिलेगी। ऐसे में रेस्टोरेंट और मॉल्स भी खुल जाएंगे। शादी समारोह व धर्मस्थलों में 50 लोगों के एकत्र होने की अनुमति होगी। सरकारी दफ्तरों व निजी कार्यालयों में कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए शत प्रतिशत उपस्थिति हो सकेगी। इस दौरान कोविड प्रोटोकॉल का पूरा पालन करना होगा।

रेस्टोरेंट व माल्स को कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए अभी 50 फीसदी क्षमता से ही खोला जाएगा। सिनेमा हॉल, स्टेडियम, स्विमिंग पूल, जिम अभी नहीं खुलेंगे। स्कूल, कॉलेज व शिक्षण संस्थान भी फिलहाल बंद रहेंगे। केवल शिक्षकों व कर्मचारियों को प्रशासनिक कार्य के लिए आने की अनुमति होगी।

प्रदेश में कोरोना संक्रमण में कमी को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 21 जून से आंशिक कोरोना कर्फ्यू में छूट की अवधि बढ़ाकर सुबह 7 से रात 9 बजे तक करने के निर्देश दिए थे। मुख्य सचिव आर.के. तिवारी की ओर से शनिवार देर रात इस संबंध में विस्तृत गाइडलाइन जारी कर दी। गाइडलाइन के अनुसार रात्रिकालीन कर्फ्यू रात नौ बजे से सुबह सात बजे तक रहेगा। शनिवार व रविवार को वीकें ड कर्फ्यू पहले की तरह लागू रहेगा। साप्ताहिक बंदी के दौरान पूरे प्रदेश में शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में स्वच्छता, सेनिटाइजेशन व फॉगिंग अभियान चलाया जाएगा।

गाइडलाइन के अनुसार कंटेनमेंट जोन के बाहर रेस्टोरेंट, होटल केअंदर स्थित रेस्टोरेंट व ईटिंग प्वाइंट्स सुबह सात बजे से रात नौ बजे तक 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खोलने की अनुमति होगी। खुलने वाले रेस्टोरेंट्स में अनिवार्य रूप से इन्फ्रारेड थर्मामीटर, पल्स ऑक्सीमीटर, सैनिटाइजर आदि से युक्त कोविड हेल्प डेस्क स्थापित की जाएगी। साथ ही अल्टरनेट कुर्सियों पर बैठने की व्यवस्था करनी होगी। 

बीच की कुर्सियों पर न बैठने के  लिए क्रास अथवा डू नॉट सिट मार्किंग करनी होगी। माल्स की दुकानों व रेस्टोरेंट के लिए भी ये शर्तें लागू होंगी। मिठाई, स्ट्रीट फूड व फास्ट फूड की दुकानों पर इन शर्तों के साथ बैठकर अथवा खड़े होकर खाने की अनुमति होगी। सब्जी मंडिया पूर्व की भांति खुली रहेंगी लेकिन घनी आबादी में स्थित सब्जी मंडियों को खुले स्थान पर लगवाया जाएगा। बंद या खुले स्थान पर शादी में एक समय में 50 लोगों को कोविड प्रोटोकॉल के अनुसार सावधानियों के साथ शामिल होने की अनुमति होगी।

गाइडलाइन के मुताबिक पुरातत्व विभाग के स्मारक, प्राणि उद्यान व पार्क अपने पूर्व निर्धारित समय पर खोले जाएंगे। धर्मस्थलों पर एक बार में 50 से ज्यादा लोगों को एकत्र होने की अनुमति नहीं होगी।

गाइडलाइन में कहा गया है कि पुलिस द्वारा व्यापक पेट्रोलिंग करते हुए यह सुनिश्चित किया जाए कि कहीं पर भी भीड़ एकत्र न होने पाए। लोगों द्वारा अनिवार्य रूप से मास्क का प्रयोग तथा दो.गज की दूरी का पालन किया जाए। कोरोना संक्र्तमण से बचाव के प्रति लोगों को निरँतर जागरूक एवं कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए प्रेरित किया जाए। इसके लिए व्यापक पैमाने पर पब्लिक एड्रेस सिस्टम का उपयोग किया जाए।


लखनऊ: प्रदेश में कोरोना संक्रमण पर लगभग लगाम लग चुकी है। इसे देखते हुए अब सोमवार से सरकार कोरोना कर्फ्यू में छूट बढ़ाने जा रही है। अब सप्ताह में पांच दिन सुबह सात से रात नौ बजे तक माल, रेस्टोरेंट और पार्क खोले जाएंगे। वहीं, शादी समारोहों में अधिकतम 50 व्यक्तियों के शामिल होने की अनुमति होगी। मुख्यमंत्री के निर्देश पर शनिवार देर रात मुख्य सचिव ने विस्तृत दिशा-निर्देश जारी कर दिए।

मुख्यमंत्री ने शनिवार को उच्च स्तरीय बैठक में प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि सोमवार से आंशिक कोरोना कफ्यरू में सप्ताह के पांच दिन सुबह सात से रात नौ बजे तक छूट दी जाए। इस अवधि में कोविड प्रोटोकाल के पालन के साथ बाजार, माल, रेस्टोरेंट, पार्क आदि खोले जा सकेंगे। धर्मस्थलों पर एक समय में अधिकतम पांच, जबकि शादी समारोहों में अधिकतम 50 व्यक्ति शामिल हो सकेंगे। 

योगी ने कहा है कि सब्जी मंडियां खुले स्थानों पर लगाई जाएं, जबकि स्टेडियम, जिम, क्लब, शिक्षण कार्य अभी बंद रहेगा। रात नौ से सुबह सात बजे तक रात्रि कफ्यरू प्रतिदिन और शनिवार-रविवार की साप्ताहिक बंदी अभी लागू रहेगी। उन्होंने अधिकारियों को विस्तृत निर्देश दिया। देर रात गाइड लाइन जारी हो गई। 

■  धर्मस्थलों में पांच और शादी समारोहों में अधिकतम 50 व्यक्तियों की अनुमति

■  कोरोना संक्रमण की स्थिति की समीक्षा कर मुख्यमंत्री ने दिया निर्देश


संबन्धित खबरों के लिए क्लिक करें

GO-शासनादेश NEWS अनिवार्य सेवानिवृत्ति अनुकम्पा नियुक्ति अल्‍पसंख्‍यक कल्‍याण अवकाश आंगनबाड़ी आधार कार्ड आयकर आरक्षण आवास उच्च न्यायालय उच्‍च शिक्षा उच्चतम न्यायालय उत्तर प्रदेश उत्तराखण्ड उपभोक्‍ता संरक्षण एरियर एसीपी ऑनलाइन कर कर्मचारी भविष्य निधि EPF कामधेनु कारागार प्रशासन एवं सुधार कार्मिक कार्यवाही कृषि कैरियर कोर्टशाला कोषागार खाद्य एवं औषधि प्रशासन खाद्य एवम् रसद खेल गृह गोपनीय प्रविष्टि ग्रामीण अभियन्‍त्रण ग्राम्य विकास ग्रेच्युटी चतुर्थ श्रेणी चयन चिकित्सा चिकित्‍सा एवं स्वास्थ्य चिकित्सा प्रतिपूर्ति छात्रवृत्ति जनवरी जनसुनवाई जनसूचना जनहित गारण्टी अधिनियम धर्मार्थ कार्य नकदीकरण नगर विकास निबन्‍धन नियमावली नियुक्ति नियोजन निर्वाचन निविदा नीति न्याय न्यायालय पंचायत चुनाव 2015 पंचायती राज पदोन्नति परती भूमि विकास परिवहन पर्यावरण पशुधन पिछड़ा वर्ग कल्‍याण पीएफ पुरस्कार पुलिस पेंशन प्रतिकूल प्रविष्टि प्रशासनिक सुधार प्रसूति प्राथमिक भर्ती 2012 प्रेरक प्रोबेशन बजट बर्खास्तगी बाट माप बेसिक शिक्षा बैकलाग बोनस भविष्य निधि भारत सरकार भाषा मकान किराया भत्‍ता मत्‍स्‍य मंहगाई भत्ता महिला एवं बाल विकास माध्यमिक शिक्षा मानदेय मानवाधिकार मान्यता मुख्‍यमंत्री कार्यालय युवा कल्याण राजस्व राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद राज्य सम्पत्ति राष्ट्रीय एकीकरण रोक रोजगार लघु सिंचाई लोक निर्माण लोक सेवा आयोग वरिष्ठता विकलांग कल्याण वित्त विद्युत विविध विशेष भत्ता वेतन व्‍यवसायिक शिक्षा शिक्षा शिक्षा मित्र श्रम सचिवालय प्रशासन सत्यापन सत्र लाभ सत्रलाभ समन्वय समाज कल्याण समाजवादी पेंशन समारोह सर्किल दर संवर्ग संविदा संस्‍थागत वित्‍त सहकारिता सातवां वेतन आयोग सामान्य प्रशासन सार्वजनिक उद्यम सार्वजनिक वितरण प्रणाली सिंचाई सिंचाई एवं जल संसाधन सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम सूचना सेवा निवृत्ति परिलाभ सेवा संघ सेवानिवृत्ति सेवायोजन सैनिक कल्‍याण स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन स्थानांतरण होमगाडर्स