Searching...
Saturday, April 4, 2020

चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन खोलने की कार्ययोजना पर हो काम, सोशल डिस्टेनसिंग पर रहेगा जोर

चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन खोलने की कार्ययोजना पर हो काम, सोशल डिस्टेनसिंग पर रहेगा जोर।  


●  'चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन खोलने की बनाएं योजना'
●  मुख्य सचिव ने सभी डीएम को जारी किए निर्देश
●  सीएम ने कहा, सोशल डिस्टेंसिंग के लिए अभी से कर लें तैयारी

प्रदेश की तरह हर जिले में बनेगी समिति• एनबीटी ब्यूरो, लखनऊ : कोरोना के खिलाफ लड़ाई प्रभावी ढ़ंग से लड़ी जा सके। इसके लिए प्रदेश की तरह जिला स्तर पर भी समितियां बनेंगी। ये समितियां अपने लिए निर्धारित कामों का निस्तारण करेंगी।

ये समितियां जिला स्तर पर वैसे ही काम करेंगी, जैसे प्रदेश स्तर पर श्रमिक एवं मजदूरों के कल्याण, आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति, लॉकडाउन का इन्फोर्समेंट, राहत व्यवस्था, स्वच्छता सैनिटाइजेशन, जलापूर्ति, बिजली आपूर्ति, स्वास्थ्य एवं चिकित्सा व्यवस्था, पशु चिकित्सा एवं आहार, पुलिस व्यवस्था, वित्तीय व्यवस्था और बैंक व्यवस्था औ कृषि के संबंध में काम कर रही हैं। इन समितियों के अध्यक्ष जिलास्तरीय वरिष्ठ अधिकारी होंगे। इसके निर्देश मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी ने शुक्रवार को दिए।

कहीं जमा न होने पाए भीड़

मुख्य सचिव की तरफ से जारी निर्देशों में कहा गया है कि कहीं भी सामूहिक धार्मिक आयोजन न किया जाए। जिसमें भीड़ इक्ट्ठा हो। धर्म गुरूओं से यह अपील कराई जाए कि सभी धार्मिक काम घरों में ही किए जाएं। लॉजिस्टिक सपोर्ट के लिए स्वयंसवियों की मदद ली जाए। आश्रय गृहों को पक्के और पर्याप्त बड़े भवनों में ही बनाया जाए। सभी व्यक्ति मास्क का उपयोग करें, लेकिन ऐसे मास्क का इस्तेमाल किया जाए, जो धुलाई योग्य और दोबारा उपयोग योग्य हों।• एनबीटी ब्यूरो, लखनऊ : योगी सरकार ने 15 अप्रैल से लॉकडाउन खुलने की संभावनाओं पर काम शुरू कर दिया है। सीएम ने शुक्रवार को अफसरों से कहा कि 15 अप्रैल को लॉकडाउन खुलता है तो जरूरी व्यवस्थाओं की तैयारी अभी से कर लें। इस समय जो जहां फंसा होगा, वहां से आने का प्रयास करेगा। इन हालातों में सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन कराना बेहद चुनौतीपूर्ण होगा।

सीएम ने शुक्रवार को अपने आवास पर टीम-11 के साथ बैठक की। इस दौरान योगी ने कहा कि लॉकडाउन हटने के बाद स्कूल, कॉलेज, अलग-अलग तरह के बाजार और मॉल कब और कैसे खुलेंगे इसकी कार्ययोजना तैयार करें।

भोजन के लिए बनाएं कलेक्शन सेंटर

योगी ने कहा कि में दो स्तर पर तैयारी करनी होगी। मौजूदा हालात और भविष्य के मद्देनजर रणनीति तैयार करें। हर जिले में कम्यूनिटी किचन चलाएं। इसमें स्वयंसेवी संस्थाओं सहित अन्य जो लोग भी मदद देना चाहें उनकी मदद लें। हर कोई भोजन बांटने न निकले इसके लिए कुछ कलेक्शन सेंटर बनाएं। वहां भोजन एकत्र हो और बंटने के लिए जाएं। सीएम ने एनएसएस, एनसीसी, स्काउट्स और युवक मंगल दल में से वालंटियर तैयार करने के निर्देश दिए।

डॉक्टरों की बनाएं डायरेक्ट्री

योगी ने कहा कि कोरोना के संक्रमण के दौरान एनेस्थेसिया, फिजिशन, बच्चों और महिलाओं के डॉक्टर्स की सर्वाधिक जरूरत होती है। निजी क्षेत्र में संबंधित विशेषज्ञता के कितने डॉक्टर्स हैं, उनकी सूची तैयार करें। इनको प्रशिक्षण दें ताकि जरूरत पर इनसे मदद ली जा सके। इसी तरह के प्रशिक्षण की जरूरत इनके पैरामेडिकल स्टाफ और आयुष विभाग के चिकित्सकों और उनके स्टाफ की भी होगी। जरूरत पड़ने पर निजी चिकित्सालयों के कितने बेड और वेंटिलेटर उपलब्ध हो सकते हैं, इसकी भी सूची तैयार करें। उन्होंने कहा कि प्राइमरी स्कूल की जगह बड़े स्कूलों को क्वारंटीन सेंटर बनाएं, जिससे सुरक्षा बेहतर हो सके।

"1000 करोड़ का कोरोना फंड बना

सीएम ने कहा कि एक हजार करोड़ रुपये का कोरोना केयर फंड तैयार कर लिया गया है। शुक्रवार शाम इसे कैबिनेट से मंजूरी दिलवाकर पास करवा लिया गया। इस फंड से टेस्टिंग लैब की सुविधाएं बढ़ाने के साथ इलाज में जरूरी और उपकरणों मसलन वेंटीलेटर, मास्क, सैनिटाइजर, पीपीई आदि की व्यवस्था की जाएगी। इस फंड में सीएसआर के तहत औद्योगिक घरानों की मदद व जनसहयोग भी लिया जाएगा। सीएम ने स्वयं सहायता समूहों के जरिए खादी के पकड़ों का मास्क तैयार करने का भी सुझाव दिया। उन्होंने कहा कि इससे स्थानीय स्तर पर महिलाओं को रोजगार मिलेगा और मास्क सस्ता होने पर लोग इसे अपनी आदत का हिस्सा बना सकेंगे।




संबन्धित खबरों के लिए क्लिक करें

GO-शासनादेश NEWS अनिवार्य सेवानिवृत्ति अनुकम्पा नियुक्ति अल्‍पसंख्‍यक कल्‍याण अवकाश आंगनबाड़ी आधार कार्ड आयकर आरक्षण आवास उच्च न्यायालय उच्‍च शिक्षा उच्चतम न्यायालय उत्तर प्रदेश उत्तराखण्ड उपभोक्‍ता संरक्षण एरियर एसीपी ऑनलाइन कर कर्मचारी भविष्य निधि EPF कामधेनु कारागार प्रशासन एवं सुधार कार्मिक कार्यवाही कृषि कैरियर कोर्टशाला कोषागार खाद्य एवं औषधि प्रशासन खाद्य एवम् रसद खेल गृह गोपनीय प्रविष्टि ग्रामीण अभियन्‍त्रण ग्राम्य विकास ग्रेच्युटी चतुर्थ श्रेणी चयन चिकित्सा चिकित्‍सा एवं स्वास्थ्य चिकित्सा प्रतिपूर्ति छात्रवृत्ति जनवरी जनसंख्‍या जनसुनवाई जनसूचना जनहित गारण्टी अधिनियम धर्मार्थ कार्य नकदीकरण नगर विकास निबन्‍धन नियमावली नियुक्ति नियोजन निर्वाचन निविदा नीति न्याय न्यायालय पंचायत चुनाव 2015 पंचायती राज पदोन्नति परती भूमि विकास परिवहन पर्यावरण पशुधन पिछड़ा वर्ग कल्‍याण पीएफ पुरस्कार पुलिस पेंशन प्रतिकूल प्रविष्टि प्रशासनिक सुधार प्रसूति प्राथमिक भर्ती 2012 प्रेरक प्रोन्‍नति प्रोबेशन बजट बर्खास्तगी बाट माप बेसिक शिक्षा बैकलाग बोनस भविष्य निधि भारत सरकार भाषा मकान किराया भत्‍ता मत्‍स्‍य मंहगाई भत्ता महिला एवं बाल विकास माध्यमिक शिक्षा मानदेय मानवाधिकार मान्यता मुख्‍यमंत्री कार्यालय युवा कल्याण राजस्व राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद राज्य सम्पत्ति राष्ट्रीय एकीकरण रोक रोजगार लघु सिंचाई लोक निर्माण लोक सेवा आयोग वरिष्ठता विकलांग कल्याण वित्त विद्युत विविध विशेष भत्ता वेतन व्‍यवसायिक शिक्षा शिक्षा शिक्षा मित्र श्रम सचिवालय प्रशासन सत्यापन सत्र लाभ सत्रलाभ समन्वय समाज कल्याण समाजवादी पेंशन समारोह सर्किल दर संवर्ग संविदा संस्‍थागत वित्‍त सहकारिता सातवां वेतन आयोग सामान्य प्रशासन सार्वजनिक उद्यम सार्वजनिक वितरण प्रणाली सिंचाई सिंचाई एवं जल संसाधन सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम सूचना सेवा निवृत्ति परिलाभ सेवा संघ सेवानिवृत्ति सेवायोजन सैनिक कल्‍याण स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन स्थानांतरण होमगाडर्स