Searching...
Thursday, April 13, 2017

उत्तर प्रदेश के 20 बड़े आईएएस अधिकारियों का हुआ तबादला, योगी सरकार ने किया स्थानांतरण का बड़ा फैसला

उत्तर प्रदेश के 20 बड़े आईएएस अधिकारियों का हुआ तबादला, योगी सरकार ने किया स्थानांतरण का बड़ा फैसला।







योगी सरकार ने बुधवार को शासन स्तर से वरिष्ठ अधिकारियों के तबादलों की शुरुआत कर दी। इसके पहले एक-दो अफसरों के तबादले जरूर हुए थे लेकिन, पहली बार 20 आइएएस अफसरों के कार्यक्षेत्र में एक साथ फेरबदल किया गया है। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के करीबी रहे अफसरों को अहम पदों से हटाया गया है। सपा सरकार में प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री रहीं अनीता सिंह समेत नौ अफसरों को प्रतीक्षारत किया गया है। 





शासन में महत्वपूर्ण पदों पर उन अफसरों को तैनात किया गया है जो या तो केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर रहे या फिर पिछली सरकार में मुख्य धारा में उनकी तैनाती नहीं रही। नवनीत सहगल के सभी विभागों को हाल में दिल्ली से प्रतिनियुक्ति से लौटे अवनीश अवस्थी को दे दिया गया है, जबकि भूतत्व एवं खनिकर्म का दायित्व राज प्रताप सिंह को सौंपा गया है। सहगल ऐसे अफसर हैं जो बसपा सरकार में भी प्रमुख पद पर रहे। सपा सरकार बनते ही उनकी तैनाती महत्वहीन विभाग में की गयी लेकिन, बाद में फिर उन्हें महत्वपूर्ण पदों का दायित्व सौंपा गया। अवनीश अवस्थी को लेकर इस बात के कयास थे कि उन्हें मुख्यमंत्री का प्रमुख सचिव बनाया जाएगा। दिल्ली से कार्यमुक्त होने के बाद वह सीधे मुख्यमंत्री से आकर मिले और तब देर रात तक उनके साथ रहे। अगली सुबह भी उन्हें मुख्यमंत्री के करीब देखा गया था। 





योगी आदित्यनाथ के शपथ ग्रहण के कुछ दिन बाद परंपरागत रूप से पिछली सरकार ने सीएम सचिवालय (पंचम तल) पर तैनात मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव, सचिव और विशेष सचिव को अवमुक्त कर दिया था। योगी के शपथ ग्रहण के बाद उनके विशेष सचिव के रूप में अजय सिंह तैनात हुए और फिर रिग्जियान सेंफिल की भी तैनाती हुई। बुधवार को मुख्यमंत्री के सचिव के रूप में लोक निर्माण विभाग के सचिव के साथ ही आबकारी आयुक्त पद का दायित्व संभाल रहे मृत्युंजय कुमार नारायण को तैनाती दी गयी है। सरकार ने 20 आइएएस अफसरों की तैनाती में उन अफसरों को विशेष रूप से प्रतीक्षारत किया है जिन्हें समाजवादी सरकार के करीबी अफसरों के रूप में जाना जाता रहा है। इनमें नवनीत कुमार सहगल, रमा रमण, डॉ. गुरदीप सिंह, डिंपल वर्मा, अमित कुमार घोष, अनीता सिंह, डॉ. हरिओम, दीपक अग्रवाल और विजय कुमार यादव शामिल हैं। डॉ. हरिओम ने ही 2006 में गोरखपुर में सांप्रदायिक विवाद के दौरान योगी आदित्यनाथ की गिरफ्तारी कराई थी। 




मलाईदार विभागों से हटे अफसर :
योगी सरकार की नजर प्रतिष्ठित और मलाईदार विभागों पर गई है। उन्होंने अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास, नोएडा, यूपी एसआइडीसी, लघु उद्योग निगम में तैनात अफसरों के अलावा ग्रेटर नोएडा एवं नोएडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी तथा गाजियाबाद विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष को प्रतीक्षारत कर दिया गया है। भूतत्व एवं खनिकर्म विभाग भी इधर लगातार सुर्खियों में रहा है। इस विभाग के अपर मुख्य सचिव को भी प्रतीक्षारत किया गया है।




संबन्धित खबरों के लिए क्लिक करें

GO-शासनादेश NEWS अनिवार्य सेवानिवृत्ति अनुकम्पा नियुक्ति अल्‍पसंख्‍यक कल्‍याण अवकाश आंगनबाड़ी आधार कार्ड आयकर आरक्षण आवास उच्च न्यायालय उच्‍च शिक्षा उच्चतम न्यायालय उत्तर प्रदेश उत्तराखण्ड उपभोक्‍ता संरक्षण एरियर एसीपी ऑनलाइन कर कर्मचारी भविष्य निधि EPF कामधेनु कारागार प्रशासन एवं सुधार कार्मिक कार्यवाही कृषि कैरियर कोर्टशाला कोषागार खाद्य एवं औषधि प्रशासन खाद्य एवम् रसद खेल गृह गोपनीय प्रविष्टि ग्रामीण अभियन्‍त्रण ग्राम्य विकास ग्रेच्युटी चतुर्थ श्रेणी चयन चिकित्सा चिकित्‍सा एवं स्वास्थ्य चिकित्सा प्रतिपूर्ति छात्रवृत्ति जनवरी जनसंख्‍या जनसुनवाई जनसूचना जनहित गारण्टी अधिनियम धर्मार्थ कार्य नकदीकरण नगर विकास निबन्‍धन नियमावली नियुक्ति नियोजन निर्वाचन निविदा नीति न्याय न्यायालय पंचायत चुनाव 2015 पंचायती राज पदोन्नति परती भूमि विकास परिवहन पर्यावरण पशुधन पिछड़ा वर्ग कल्‍याण पीएफ पुरस्कार पुलिस पेंशन प्रतिकूल प्रविष्टि प्रशासनिक सुधार प्रसूति प्राथमिक भर्ती 2012 प्रेरक प्रोन्‍नति प्रोबेशन बजट बर्खास्तगी बाट माप बेसिक शिक्षा बैकलाग बोनस भविष्य निधि भारत सरकार भाषा मकान किराया भत्‍ता मत्‍स्‍य मंहगाई भत्ता महिला एवं बाल विकास माध्यमिक शिक्षा मानदेय मानवाधिकार मान्यता मुख्‍यमंत्री कार्यालय युवा कल्याण राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद राज्य सम्पत्ति राष्ट्रीय एकीकरण रोक रोजगार लघु सिंचाई लोक निर्माण लोक सेवा आयोग वरिष्ठता विकलांग कल्याण वित्त विद्युत विविध विशेष भत्ता वेतन व्‍यवसायिक शिक्षा शिक्षा शिक्षा मित्र श्रम सचिवालय प्रशासन सत्यापन सत्र लाभ सत्रलाभ समन्वय समाज कल्याण समाजवादी पेंशन समारोह सर्किल दर संवर्ग संविदा संस्‍थागत वित्‍त सहकारिता सातवां वेतन आयोग सामान्य प्रशासन सार्वजनिक उद्यम सार्वजनिक वितरण प्रणाली सिंचाई सिंचाई एवं जल संसाधन सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम सूचना सेवा निवृत्ति परिलाभ सेवा संघ सेवानिवृत्ति सेवायोजन सैनिक कल्‍याण स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन स्थानांतरण होमगाडर्स