Searching...
Wednesday, January 6, 2016

संविदा कर्मचारियों को निर्धारित वेतन दें विभाग, वित्त विभाग ने जारी किया जीओ, छह लाख कर्मियों को फायदा


📌  संविदा धनराशि निर्धारित होने के बाद भी कर्मचारियों को नहीं मिल रहा फायद

लखनऊ : प्रदेश के अलग-अलग विभागों में तैनात संविदा कर्मचारियों को निर्धारित वेतन नहीं मिल रहा है। इससे नाराज वित्त विभाग ने सभी विभागों को संविदा कर्मचारियों को निर्धारित वेतन देने के आदेश दिए हैं। इसके लिए वित्त विभाग के सचिव अजय अग्रवाल ने सभी विभागों को आदेश जारी कर कहा है कि 2013 में निर्धारित वेतन सभी विभाग संविदा कर्मचारियों को दें। अगर निर्धारित वेतन लागू हो जाता है, तो इससे प्रदेश के छह लाख से ज्यादा संविदा कर्मचारियों को फायदा मिलेगा। 

दरअसल 2013 में सभी विभागों में तैनात संविदा कर्मचारियों के लिए संविदा धनराशि निर्धारित की गई थी और यही वेतन के रूप में संविदा कर्मियों को दिया जाना था। मगर ज्यादातर विभागों ने वित्त विभाग की तरफ से बजट जारी होने के बाद भी संविदा कर्मचारियों के लिए निर्धारित वेतन देना नहीं शुरू किया। हाल ही में कुछ कई कर्मचारी संगठनों ने इसकी शिकायत वित्त विभाग से की थी और इसका प्रेजेंटेशन भी दिया था। इसके बाद वित्त विभाग ने शासनादेश जारी कर सभी विभागों को निर्धारित वेतन देने के आदेश दिए हैं। अगर 2013 में निर्धारित संविदा धनराशि के मुताबिक संविदा कर्मचारियों को वेतन मिलता है, तो इससे प्रदेश के छह लाख से ज्यादा कर्मचारियों को फायदा मिलेगा। ज्यादातर संविदा कर्मचारी बिजली, मेडिकल, शिक्षा, नगर विकास विभागों में तैनात हैं। 

नियमित करने की मांग
वित्त विभाग के इस शासनादेश के बाद उत्तर प्रदेश चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी महासंघ ने संविदा कर्मियों को निर्धारित वेतन दिए जाने के साथ-साथ कर्मचारियों को नियमित करने की मांग उठाई है। महासंघ के अध्यक्ष राम राज दुबे के मुताबिक विभाग संविदा कर्मचारियों को निर्धारित वेतन नहीं देना चाहते हैं। इसलिए उन्होंने आदेश होने के बाद भी न तो वित्त विभाग को प्रस्ताव भेजा है।