Searching...
Friday, January 1, 2016

पेंशन 30 दिन के अंदर आएगी, अब जनवरी में भी लिए जाएंगे सर्टिफिकेट, पहली बार ट्रेजरी में शुरू की गई व्यवस्था


लखनऊ : दिसंबर में जिंदा होने का प्रमाणपत्र और सुबूत न दे पाने वाले बुजुर्गों को पेंशन से वंचित नहीं होना पड़ेगा। ट्रेजरी ने नई व्यवस्था के तहत जनवरी में भी प्रमाणपत्र लेने का ऐलान किया है। अब बुजुर्गों को परेशान होने के बजाय जनवरी में भी दस्तावेज जमा कर पेंशन पा सकेंगे। यही नहीं जैसे ही वो सर्टिफिकेट जमा करेंगे, उनके अकाउंट में दस दिन में पेंशन भेज दी जाएगी। ट्रेजरी ने यह व्यवस्था पहली बार शुरू की है। इससे पहले पेंशन आने में दो से तीन महीने तक लग जाते थे। 

चीफ ट्रेजरर संजय सिंह ने बताया कि पेंशनर्स को हर साल के अंत में लाइव सर्टिफिकेट देना पड़ता है। दिसंबर माह में सर्टिफिकेट मिलने के बाद ही उनके अकाउंट में रुपये भेजे जाते है। अगर दिसंबर के बाद को सर्टिफिकेट देता है तो उसे पेंशन के लिए इंतजार करना पड़ता है। पेंशनर्स की मानें तो उन्हें कई बार पेंशन के लिए दफ्तर के बार-बार चक्कर काटने पड़ते हैं या फिर फोन पर संपर्क करना पड़ता है।

संजय सिंह ने बताया कि अब यह व्यवस्था शुरू की गई है कि अगर दिसंबर के बाद भी जिसके सर्टिफिकेट आएंगे तो भी उनके अकाउंट में दस दिन के अंदर रुपये भेज दिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इसके लिए जनवरी में दो बार पेंशन भेजी जाएगी, जिनके लाइव सर्टिफिकेट एक जनवरी से 10 जनवरी तक आ जाएंगे, उनके अकाउंट में 10 जनवरी को पेंशन भेज दी जाएगी और जिनके सर्टिफिकेट 11 जनवरी से 20 तक आ जाएंगे उनके अकाउंट में 20 जनवरी को पेंशन भेज दी जाएगी। इससे उन तमाम पेंशनर्स को राहत मिलेगी, जो किसी कारण से लाइव सर्टिफिकेट नहीं जमा कर पाए।

घर से सत्यापन की सुविधा
ट्रेजरर संजय सिंह ने बताया कि पहली बार पेंशनर्स की सुविधा के लिए घर जाकर सत्यापन की व्यवस्था शुरू की गई है। उन्होंने बताया कि कई पेंशनर्स ऐसे है, जो कलेक्ट्रेट आने में असमर्थ है। वो हेल्पलाइन नंबर 2611926 पर फोन कर सकते हैं। फोन आने पर कुछ पूछताछ के बाद यह सुनिश्चित किया जाता है कि पेंशनर कलेक्ट्रेट आने में समर्थ है या नहीं। अगर वो नहीं आ सकता तो उसके लिए ट्रेजरर की ओर से स्टाफ सत्यापन के लिए उनके घर भेजा जाता है। उन्होंने बताया कि अभी तक 186 पेंशनर्स का घर जाकर सत्यापन किया जा चुका है।